SyllabusUPSC

UPSC Syllabus For IAS Mains in Hindi

UPSC Syllabus For IAS Mains in Hindi, upsc mains syllabus download in hindi, नमस्कार विद्यार्थियों ध्यान दें UPSC Prelims Syllabus और IAS Mains परीक्षा दोनों का अलग-अलग syllabus दिया जाता है | अगर आप UPSC Mains परीक्षा की अच्छी तरह से तैयारी करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले UPSC IAS Civil Service Mains Syllabus की पूरा जानकारी होनी चाहिए | UPSC IAS exam में प्रश्न इस तरह से पूछे जाते हैं कि आपको किसी भी प्रश्न का उत्तर देने के लिए उस विषय में पूरा ज्ञान होना चाहिए |

Read This :-

UPSC Syllabus For IAS Mains in Hindi Details

यदि आपका Prelims exam Qualified कर लेते है और आप UPSC mains exam की तैयारी कर रहें हैं तो आपको इस तरह से IAS mains की तैयारी करना चाहिए कि प्रश्न का उत्तर देने में आपको किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े | यह समझें कि कई बार परीक्षा में ऐसे प्रश्न पूछ लिए जाते हैं जिनके विकल्प उम्मीदवार को इतने समान लगते हैं कि उसका दिमाग भ्रमित हो जाता है और आप गलत उत्तर को सिलेक्शन कर लेते हैं, यदि आप UPSC परीक्षा में सफल होना चाहते हैं तो पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र को हल अवश्य करें |

UPSC IAS Civil Service Mains Syllabus 2020 (संघ लोक सेवा आयोग) प्रेलिम्स परीक्षा पास करने के बाद मैन्स परीक्षा का पाठ्यक्रम जानना बहुत जरूरी होता है क्योंकि आप सभी विद्यार्थियों को बता दें कि दोनों का पाठ्यक्रम अलग अलग होता है इसलिए आप सभी विद्यार्थी upsc mains syllabus 2020 को ध्यान पूर्वक पढ़ने अवश्य पढ़ें |

Civil Service Mains Syllabus in Hindi

IAS Main Exam एक descriptive type अर्थात विस्तृत उत्तरीय पेपर होता है जिसमें उम्मीदवारों को प्रश्नों के लंबे उत्तर लिखने होते हैं | सामान्य अध्ययन प्रश्नों के अलावा इसमें एक निबंध (essay paper) होता है जिसमें उम्मीदवारों को दो निबंध लिखने की आवश्यकता होती है | यहां हमने नीचे टेबल में UPSC mains के papers की जानकारी दी है |

UPSC Syllabus For IAS Mains Papers :-
Paper name (पेपर) Marks (अंक)
निबंध पत्र (Essay Paper) 250
सामान्य अध्ययन 1 (General Studies Paper 1) 250
सामान्य अध्ययन 2 (General Studies Paper 2) 250
सामान्य अध्ययन 3 (General Studies Paper 3) 250
सामान्य अध्ययन 4 (General Studies Paper 4 ) 250
वैकल्पिक विषय पेपर I (Optional Subject) 250
वैकल्पिक विषय पेपर I (Optional Subject) 250
IAS Mains marks 1750
IAS साक्षात्कार (Interview) 275
Total (कुल) 2025

UPSC mains subject list 2020

Agriculture (कृषि)
Animal Husbandry and Veterinary Science (पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान)
Anthropology (मनुष्य जाति का विज्ञान)
Botany (वनस्पति विज्ञान)
Chemistry (रसायन विज्ञान)
Civil Engineering (सिविल इंजीनियरिंग )
Commerce and Accountancy (वाणिज्य और लेखा)
Economics (अर्थशास्त्र)
Electrical Engineering (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग)
Geography (भूगोल)
Geology (भूगर्भशास्त्र)
History (इतिहास)
Law (कानून)
Management (प्रबंध)
Mathematics (गणित)
Mechanical Engineering (मैकेनिकल इंजीनियरिंग)
Medical Science (चिकित्सा विज्ञान)
Philosophy
Physics (भौतिक विज्ञान)
Political Science and International Relations (राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)
Psychology (मनोविज्ञान)
Public Administration (सार्वजनिक प्रशासन)
Sociology (नागरिक सास्त्र)
Statistics (आंकड़े)
Zoology (प्राणि विज्ञान)

UPSC Syllabus For IAS Mains Essay Paper Syllabus

विद्यार्थियों ध्यान दें कि IAS Main syllabus में निबंध पेपर पाठ्यक्रम का कोई उल्लेख नहीं है, notification में इसके लिए सिर्फ एक व्यापक रूपरेखा प्रदान की गई है | UPSC द्वारा निबंध के लिए हमेशा दर्शन, लोक प्रशासन और अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य से विषय दिया | इन निबंधों के माध्यम से उम्मीदवारों के विश्व दृष्टिकोण का परीक्षण किया जाता है | इसमें यह देखा जाता है कि उम्मीदवार किस तरह से समस्याओं को देखता है और कैसे वो इन समस्याओं के समाधान सुझाव देता है |

UPSC Syllabus For IAS Mains General Studies Paper-I

  • भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल |
  • भारतीय संस्कृति प्राचीन से आधुनिक काल तक कला रूपों, साहित्य और वास्तुकला |
  • आधुनिक भारतीय इतिहास- अठारहवीं शताब्दी के मध्य से लेकर आज तक की महत्वपूर्ण घटनाएँ, व्यक्तित्वों, मुद्दों तक |
  • स्वतंत्रता संग्राम – देश के विभिन्न हिस्सों में स्वतंत्रता संग्राम के चरण और महत्वपूर्ण योगदान / योगदान |
  • भारत की स्वतंत्रता के बाद का एकीकरण और पुनर्गठन |
  • वर्ल्ड हिस्ट्री में 18 वीं शताब्दी की घटनाएं शामिल होंगी जैसे कि औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुन: आहरण, औपनिवेशीकरण, विघटन, राजनीतिक दर्शन जैसे साम्यवाद, पूंजीवाद, समाजवाद आदि -. समाज पर उनका प्रभाव |
  • भारतीय समाज की प्रमुख विशेषताएं, भारत की विविधता |
  • महिलाओं और महिलाओं के संगठन, जनसंख्या और संबंधित मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक मुद्दों, शहरीकरण, उनकी
  • समस्याओं और उनके उपचार की भूमिका |
  • भारतीय समाज पर वैश्वीकरण के प्रभाव |
  • सामाजिक सशक्तिकरण, सांप्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता |
  • भौतिक भूगोल और मुख्य विशेषताएं |
  • दुनिया भर के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों की जानकारी (दक्षिण एशिया और भारतीय उप-महाद्वीप सहित); दुनिया के विभिन्न हिस्सों (भारत सहित) में प्राथमिक, माध्यमिक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों के स्थान के लिए जिम्मेदार कारक।
  • महत्वपूर्ण भूभौतिकीय घटनाएं जैसे भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी, चक्रवात आदि, भौगोलिक विशेषताएं और महत्वपूर्ण भौगोलिक विशेषताओं (जल-निकायों और बर्फ-कैप सहित) में उनके स्थान-परिवर्तन और वनस्पतियों और जीवों में और ऐसे परिवर्तनों के प्रभाव |

UPSC Syllabus For IAS Mains General Studies Paper-II

  • शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध |
  • भारतीय का संविधान-ऐतिहासिक आधार, विकास, सुविधाएँ, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना |
  • संघ और राज्यों के कार्य और जिम्मेदारियाँ, मुद्दे और चुनौतियाँ, संघीय संरचना से संबंधित, शक्तियों का विचलन और स्थानीय स्तर तक वित्त और उसमें मौजूद चुनौतियाँ |
  • विभिन्न अंगों, विवाद निवारण तंत्र और संस्थानों के बीच शक्तियों का पृथक्करण |
  • अन्य देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना की तुलना |
  • संसद और राज्य विधानसभाएं- संरचना, कामकाज, व्यवसाय का संचालन, शक्तियां और विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले मुद्दे |
  • कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य – सरकार के मंत्रालय और विभाग |
  • महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, एजेंसियां ​​और फ़ॉर्मा- उनकी संरचना, जनादेश |
  • लोकतंत्र में नागरिक सेवाओं की भूमिका |
  • स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधन से संबंधित क्षेत्र / सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित मुद्दे |
  • गरीबी और भूख से संबंधित मुद्दे |
  • केंद्र और राज्यों द्वारा जनसंख्या के कमजोर वर्गों के लिए शुरू की गई कल्याणकारी योजनाएं, कमजोर वर्गों की सुरक्षा और बेहतरी के लिए तंत्र, कानून, संस्थाएं और निकाय |
  • लोकतंत्र में नागरिक सेवाओं की भूमिका |
  • भारत और पड़ोसी के संबंध।
  • भारत के हितों को प्रभावित करने वाले समझौते |

UPSC Syllabus For IAS Mains General Studies Paper III

  • प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन
  • भारतीय अर्थव्यवस्था और संसाधनों, विकास |
  • विकास और रोजगार की योजना और इससे संबंधित मुद्दे |
  • समावेशी विकास और इससे उत्पन्न होने वाले मुद्दे |
  • सरकारी बजट |
  • देश के विभिन्न हिस्सों में प्रमुख फसल- विभिन्न प्रकार की सिंचाई प्रणाली भंडारण, परिवहन और कृषि उपज और मुद्दे, संबंधित बाधाओं का विपणन; किसानों की सहायता में ई-प्रौद्योगिकी |
  • प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कृषि सब्सिडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे; सार्वजनिक वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्यप्रणाली, सीमाएँ, सुधार; बफर स्टॉक और खाद्य सुरक्षा के मुद्दे; प्रौद्योगिकी मिशन; पशु-पालन का अर्थशास्त्र |
  • भारत में भूमि सुधार।
  • अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में बदलाव और औद्योगिक विकास पर उनके प्रभाव |
  • इन्फ्रास्ट्रक्चर: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, हवाई अड्डे, रेलवे आदि |
  • निवेश मॉडल |
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी- रोजमर्रा की जिंदगी में विकास और उनके अनुप्रयोग और प्रभाव |
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां; प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण और नई तकनीक विकसित करना |
  • आईटी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, नैनो-प्रौद्योगिकी, जैव-प्रौद्योगिकी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित मुद्दों के क्षेत्र में जागरूकता |
  • संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और गिरावट, पर्यावरण प्रभाव आकलन |
  • आपदा और आपदा प्रबंधन |
  • Extremism (अतिवाद)के विकास और प्रसार के बीच संबंध |
  • विभिन्न सुरक्षा बलों और एजेंसियों और उनके जनादेश |
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां और उनका प्रबंधन |
  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की मूल बातें; मनी लॉन्ड्रिंग और इसके रोकथाम |

UPSC Syllabus For IAS Mains General Studies Paper IV

(नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि)

  • इस प्रश्न-पत्र में ऐसे प्रश्न शामिल होंगे जो सार्वजनिक जीवन में उम्मीदवारों की सत्यनिष्ठा, ईमानदारी से संबंधित विषयों के प्रति उनकी अभिवृत्ति तथा उनके दृष्टिकोण तथा समाज से आचार-व्यवहार में विभिन्न मुद्दों तथा सामने आने वाली समस्याओं के समाधान कोलेकर उनकी मनोवृत्ति का परीक्षण करेंगे |
  • इन आयामों का निर्धारण करने के लिए प्रश्न-पत्रों में किसी मामले के अध्ययन (केस स्टडी) का माध्यम भी चुना जा सकता है। मुख्य रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों को कवर किया जाएगा : नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-संबंध: मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्व, इसके निर्धारक और परिणाम: नीतिशास्त्र के आयाम; निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र |
  • मानवीय मूल्य महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका |
समाज :-
  • अभिवृत्ति: सारांश (कंटेन्ट), संरचना, वृत्ति: विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध; नैतिक और राजनीतिक अभिरुचि; सामाजिक प्रभाव और धारणा।
  • सिविल सेवा के लिए अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य, सत्यनिष्ठा,. भेदभाव रहित तथा गैर-तरफदारी, निष्पक्षता,
  • सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर बर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा संवेदना।
  • भावनात्मक समझ: अवधारणाएं तथा प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनके उपयोग और प्रयोग |
  • भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दार्शनिकों के योगदान |
  • लोक प्रशासनों में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र: स्थिति तथा समस्याएं; सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएं तथा दुविधाएं; नैतिक मार्गदर्शन के स्रोतों के रूप में विधि, नियम, विनियमन तथा अंतर्रात्मा; शासन व्यवस्था में नीतिपरक तथा नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण; अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था (फोडिंग) में नैतिक मुद्दे कारपोरेट |
शासन व्यवस्था :-
  • शासन व्यवस्था में ईमानदारी : लोक सेवा की अवधारणा; शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, नीतिपरक आचार संहिता, आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियां |
    उपर्युक्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडी) |
Tags

Related Articles

3 Comments

  1. Sir upsc IAS mains exam me phla paper kiska hota hai, essay ka y phir jo qualified paper ka,jo 300 mark k hote h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
You cannot copy content of this page
Close